कर्नाटका / कोस्टल

कर्नाटक: परीक्षा में नकल रोकने के लिए छात्र-छात्राओं के सिर पर पहनाया कार्डबोर्ड का डिब्बा

बेंगलुरु: (सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  कर्नाटक के हावेरी जिले के एक कॉलेज में परीक्षा के दौरान छात्र-छात्राओं को नकल करने से रोकने के लिए उनके सिर पर कार्डबोर्ड का डिब्बा पहनाने का मामला सामने आया है.

यह मामला कर्नाटक के हावेरी जिले के भगत प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज का है. इस कार्डबोर्ड में आंखों के सामने एक चौकोर हिस्सा काट दिया ताकि छात्र सिर्फ सवाल देख पाएं और जवाब लिख सकें.

सोशल मीडिया पर परीक्षा हॉल के अंदर की कुछ तस्वीरें शेयर की जा रही हैं, जिसमें बुधवार को केमिस्ट्री के एग्जाम में छात्र-छात्राएं सिर पर कार्डबोर्ड पहनकर परीक्षा देते नजर आ रहे हैं.

राज्य के शिक्षा विभाग ने मामले का संज्ञान लेते हुए कॉलेज को नोटिस जारी किया है और साथ में  जांच के आदेश दिए हैं.

ANI

@ANI

Karnataka: Students were made to wear cardboard boxes during an exam at Bhagat Pre-University College in Haveri, reportedly to stop them from cheating. (16.10.2019)

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
2,312 people are talking about this

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक प्री-यूनिवर्सिटी शिक्षा विभाग के उपनिदेशक एससी पीरजादे ने कहा, ‘उन्होंने एग्जाम हॉल में बच्चों को नकल करने से रोकने के लिए इस तरह के अमानवीय तरीके को लागू करने के लिए कॉलेज प्रशासन को नोटिस जारी किया है.’

कॉलेज के निदेशक एमबी सतीश का कहना है, ‘हमने परीक्षा के दौरान नकल रोकने के लिए इस तरीके का इस्तेमाल किया, हमारा मकसद बच्चों को प्रताड़ित करना नहीं था. यह सिर्फ एक प्रयोग था. हमने छात्रों से इस पर चर्चा की थी और उनकी सहमति मिलने के बाद ही इसका उपयोग किया.’

उन्होंने कहा, हम प्री-यूनिवर्सिटी शिक्षा विभाग द्वारा लगाए गए सभी नियमों का पालन कर रहे है.

पीरजादे ने कहा, ‘जब मुझे इसके बारे में पता चला तो मैं तुरंत कॉलेज गया और इसे रोकने के आदेश दिए. मैंने कॉलेज प्रबंधन को भी नोटिस जारी किया और यह कदम उठाने के लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का ऐलान किया.’

उन्होंने कहा, ‘मैंने छात्रों को भी सचेत किया है कि वे प्रबंधन द्वारा उठाए गए इस तरह के कदमों को लेकर विभाग को सूचित करें. यह अमानवीय है और एक सभ्य समाज इस तरह के विचार को कभी स्वीकार नहीं करेगा. मुझे उम्मीद है कि इस तरह की गलती दोबारा नहीं होगी. छात्र-छात्राओं को नकल करने से रोकने के लिए और भी कई तरह के पारंपरिक तरीके हैं, जिन्हें कॉलेज अपना सकता है.’

Source:-Thewire

संबंधित पोस्ट

CM पद पर येदियुरप्पा की हुई ताजपोशी, मंत्री फ्लोर टेस्ट के बाद लेंगे शपथ

Ansar Aziz Nadwi

कर्नाटकः येदियुरप्पा के विश्वास मत से पहले 14 और बागी विधायक अयोग्य ठहराए गए

Ansar Aziz Nadwi

कर्नाटक: बागी विधायकों पर फैसला बाकी, अभी दावा पेश नहीं करेगी BJP

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें