राजनीति

करतारपुर जाने वाले पहले जत्थे में शामिल होंगे मनमोहन सिंह: अमरिंदर सिंह

नई दिल्ली: (सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  9 नवंबर को पाकिस्तान के करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले पहले सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा बनने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपनी मंजूरी दे दी है.

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को ट्वीट कर जानकारी दी कि उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंदप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मुलाकात की और उन्हें श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा जाने वाले पहले जत्थे का हिस्सा बनने और श्री गुरुनानक देव जी की 550वीं प्रकाश पर्व के मौके पर सुल्तानपुर लोधी में आयोजित होने वाले कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया.

ANI

@ANI

Punjab Government: PM Modi, President Kovind accept Punjab CM Captain Amarinder Singh’s invite to attend 550th Prakash Purb celebrations of Guru Nanak Dev. Dr. Manmohan Singh agrees to join 1st all party Jatha to Kartarpur Sahib & attend mega event to mark historic occasion

View image on Twitter
96 people are talking about this

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, पंजाब सरकार ने कहा कि डॉ मनमोहन सिंह करतारपुर साहिब जाने वाले पहले जत्थे का हिस्सा बनने और इस मौके पर आयोजित होने कार्यक्रम में शामिल होने के लिए तैयार हो गए हैं. इसके साथ गुरुनानक देव की जयंती के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने के अमरिंदर सिंह के निमंत्रण को राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी ने स्वीकार कर लिया है.

अमरिंदर सिंह ने कहा कि गुरु नानक जी की 550वीं जयंती के अवसर पर पंजाब सरकार के आमंत्रण को राष्ट्रपति कोविंद और प्रधानमंत्री मोदी दोनों ने स्वीकार कर लिया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, अमरिंदर सिंह ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर खुलने के लिए मेरे पाकिस्तान जाने का कोई सवाल नहीं है और मेरा मानना है कि डॉ. मनमोहन सिंह भी नहीं जाएंगे.

ANI

@ANI

Punjab Chief Minister Captain Amarinder Singh: There is no question of me going(to Pakistan for Kartarpur corridor opening) and I feel Dr.Manmohan Singh will not go as well

View image on Twitter
410 people are talking about this

इंंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, एक आधिकारिक प्रवक्ता ने कहा कि कार्यक्रम की जानकारी को राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के साथ साझा किया गया था और उन्हें मुख्यमंत्री द्वारा उनकी सुविधा के अनुसार कार्यक्रमों में भाग लेने का अनुरोध किया गया था.

हालांकि, मुख्यमंत्री ने उन दोनों से विशेष रूप से 12 नवंबर को डेरा बाबा नानक में खुलने वाले करतारपुर कॉरिडोर और सुल्तानपुर लोधी में मुख्य कार्यक्रम में भाग लेने का आग्रह किया है.

12 नवंबर को गुरु नानक की 550 वीं जयंती से पहले 9 नवंबर को पाकिस्तान भारतीय सिख तीर्थयात्रियों के लिए करतारपुर कॉरिडोर खोलने जा रहा है.

पिछले हफ्ते पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि पाकिस्तान ऐतिहासिक करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन समारोह के लिए सिख समुदाय के प्रतिनिधि के तौर पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को आमंत्रित करेगा.

पिछले साल नवंबर में भारत और पाकिस्तान ऐतिहासिक गुरद्वारा दरबार साहिब को गुरदासपुर स्थित डेरा बाबा नानक से जोड़ने के लिए करतारपुर गलियारे का निर्माण करने पर सहमत हुए थे. गुरद्वारा दरबार साहिब में सिख पंथ के संस्थापक गुरू नानकदेव ने अपना आखिरी समय व्यतीत किया था.

करतारपुर साहिब पाकिस्तान में पंजाब के नरोवाल जिले में है. रावी नदी के दूसरी ओर स्थित करतारपुर साहिब की डेरा बाबा नानक गुरद्वारे से दूरी करीब चार किमी है.

गलियारे के निर्माण के बाद भारतीय सिख श्रद्धालु वीजा के बिना ही करतारपुर स्थित गुरद्वारा दरबार साहिब की यात्रा कर सकेंगे. पाकिस्तान ने इस साल नवंबर में गुरू नानक देव की 550वीं जयंती पर गलियारे को खोलने के लिए प्रतिबद्धता जताई है.

पाकिस्तान इस गलियारे से हर दिन 5,000 श्रद्धालुओं को गुरुद्वारा आने की इजाजत देगा और विशेष मौकों पर इस संख्या को बढ़ाया भी जा सकता है.

पंजाब के मुख्यमंत्री ने अनुरोध किया है कि 30 अक्टूबर से 3 नवंबर तक 550 वें प्रकाश पर्व के अवसर पर 21 व्यक्तियों के एक समूह को “पथ” (धार्मिक ग्रंथों को पढ़ने) के आयोजन के लिए ननकाना साहिब जाने की अनुमति दी जा सकती है और फिर अमृतसर (वाघा) के माध्यम से सुल्तानपुर लोधी तक “नगर कीर्तन” लाया जा सकता है. “नगर कीर्तन” 4 नवंबर को पंजाब के कपूरथला जिले के सुल्तानपुर लोधी में आएगा.

एक आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार, मुख्यमंत्री ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को पत्र लिखकर ननकाना साहिब प्रतिनिधिमंडल की यात्रा और पाकिस्तान से पंजाब तक “नगर कीर्तन” को औपचारिक मंजूरी देने के लिए का अनुरोध भी किया है.

राज्य सरकार द्वारा गुरु नानक देव की 550 वीं जयंती समारोह के संबंध में 5 नवंबर से 15 नवंबर तक आयोजित की जाने वाले प्रमुख कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि डेरा बाबा नानक पर श्रद्धालुओं की एक संक्षिप्त सार्वजनिक बैठक के बाद जत्थे को रवाना किया जाएगा.

उन्होंने कहा कि इसके बाद पंजाब सरकार ने 1 नवंबर को सुबह के 11 बजे से दोपहर के 2 बजे तक एक सर्वदलीय बैठक का प्रस्ताव दिया है.

संबंधित पोस्ट

शीला दीक्षित के बेटे ने दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको को उनकी मौत का ज़िम्मेदार ठहराया

Ansar Aziz Nadwi

केंद्र सरकार ने चार नए राज्यपालों की नियुक्ति की, आनंदीबेन पटेल उत्तर प्रदेश भेजी गईं

Ansar Aziz Nadwi

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें