नेशनल

अशोक लवासा की पत्नी के साथ उनकी बहन और बेटे को भी मिला आयकर विभाग का नोटिस

चंडीगढ़ः (सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी नोवल सिंघल लवासा के साथ उनकी बहन शकुंतला को भी आयकर विभाग ने नोटिस भेजा.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, उनकी पत्नी नोवल लवासा को अगस्त में आयकर विभाग ने नोटिस भेजा था. इसी महीने अशोक लवासा की बहन शकुंतला लवासा को भी नोटिस भेजा गया था.

अशोक लवासा की बहन शकुंतला पेशे से बाल रोग चिकित्सक हैं जबकि उनकी पत्नी नोवल सिंघल लवासा पूर्व बैंकर हैं और कई कंपनियों की निदेशक रह चुकी हैं.

इसके साथ ही आयकर विभाग ने नॉरिश ऑर्गेनिक फूड्स लि. नाम की कंपनी के खातों की भी पड़ताल की. अशोक लवासा के बेटे अबीर लवासा इसके निदेशक हैं और पिछले वित्त वर्ष इस कंपनी में अबीर के 10,000 शेयर थे.

अबीर लवासा ने कहा, ‘आयकर विभाग ने नॉरिश ऑर्गेनिक को नोटिस भेजा है. अगस्त के पहले सप्ताह में कंपनी के खातों की जांच की गई. इसके बाद से आयकर विभाग की ओर से कोई सूचना नहीं मिली है.’

आयकर विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि अबीर ने विभाग को कोई जवाब नहीं दिया है.

बता दें कि, अशोक लवासा ने लोकसभा चुनाव के दौरान पांच मौकों पर चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के आरोपों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मौजूदा गृहमंत्री अमित शाह को चुनाव आयोग द्वारा दी गई क्लीन चिट का विरोध किया था.

आयकर विभाग ने रूपाली बिल्डवेल प्रा. लि नाम की एक बिल्डर कंपनी से भी पूछताछ की. इस कंपनी का मालिकाना हक अशोक लवासा और उनकी पत्नी नोवल के पास है. इस कंपनी ने गुड़गांव में एक चार मंजिला इमारत बनाई है.

आयकर विभाग के अधिकारियों ने गुड़गांव में बिल्डर के ऑफिस और आवास का दौरा किया.

कंपनी के निदेशक सत्य प्रिया त्यागी का कहना है कि वह इस मामले पर कोई टिप्पणी नहीं करना चहाते. उनकी पत्नी कविता त्यागी ने कहा कि आयकर विभाग के अधिकारी 22 अगस्त को उनके घर आए थे.

आयकर विभाग ने 2017-2018 में लवासा की बहन शकुंतला लवासा को 1.86 करोड़ रुपये में बेचे गए एक अपार्टमेंट का मूल्य 7.2 करोड़ रुपये आंका है. विभाग का कहना है कि इस निवेश की जांच की जरूरत है.

शुरुआती जांच में पता चला कि अशको लवासा के पास चार संपत्तियां हैं, जिनमें से तीन गुड़गांव और एक नोएडा में हैं.

आयकर विभाग द्वारा भेजे गए नोटिस पर अशोक लवासा और शकुंतला लवासा ने किसी भी तरह की टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.

मार्च 2019 में मॉरिशस की सामा कैपिटल कंपनी ने नॉरिश ऑर्गेनिक फूड्स में 7.25 करोड़ रुपये का निवेश किया था. अबीर लवासा 14 नवंबर 2017 से इस कंपनी के निदेशक हैं.

रजिस्टर ऑफ कंपनीज (आरओसी) के रिकॉर्डों से पता चलता है कि 29 मार्च 2019 को सामा कैपिटल को 1,500 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से 50,000 शेयर आवंटित किए गए थे. इस आधार पर अबीर की कंपनी में हिस्सेदारी 1.5 करोड़ रुपये आंकी गई है.

गौरतलब है कि इससे पहले अशोक लवासा की पत्नी नोवल लवासा को आयकर विभाग ने नोटिस भेजा था.

इसके बाद सोमवार को नोवल लवासा ने बयान जारी कर कहा था, ‘यह बताया जाता है कि मैंने आयकर कानूनों के अनुसार सभी करों का भुगतान करने के अलावा पेंशन और अन्य स्रोतों से अर्जित पूरी आय का खुलासा किया है.’

उन्होंने कहा, ‘मैं यह साफ करती हूं कि 28 सालों तक भारतीय स्टेट बैंक में क्लास-एक की अधिकारी होने और बैंकिंग के क्षेत्र में काफी अनुभव होने के कारण मैं कुछ कंपनियों में स्वतंत्र निदेशक के साथ कई पेशेवर गतिविधियों में लगातार संलग्न रही हूं. मैंने पांच अगस्त 2019 के बाद आयकर विभाग की ओर से भेजे गए सभी नोटिसों का जवाब दिया है और विभाग की तरफ से की जा रही कार्यवाही में सहयोग भी कर रही हूं.’

संबंधित पोस्ट

महिलाओं-बच्चों के प्रति होने वाले अपराध की जानकारी देने से क्यों कतरा रही है राजस्थान सरकार

Ansar Aziz Nadwi

श्रीनगर जाएंगे गुलाम नबी आजाद, कांग्रेस नेताओं के साथ करेंगे बैठक

Ansar Aziz Nadwi

मोदी सरकार के सौ दिनों की सबसे बड़ी ‘उपलब्धि’ भारतीय संघीय ढांचे को कमज़ोर करना रहा है

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें