खेल

धर्मशाला: कल द. अफ्रीका से पहला टी-20 खेलेगा भारत, रोहित-विराट पर होंगी नजरें

(सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  वेस्टइंडीज के खिलाफ उसके घर में क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में अपनी बादशाहत दिखाने वाली भारतीय टीम अब अपने घर लौट चुकी हैं जहां उसे रविवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मैच खेलना है. दोनों टीमें हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (HPCA) स्टेडियम में आमने-सामने होंगी. भारत ने विंडीज को हर प्रारूप में एकतरफा मात दी थी और अब वह दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी यही करना चाहेगी.

विंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज में रोहित शर्मा और कप्तान विराट कोहली ने रन किए थे तो वहीं गेंदबाजों में युवा नवदीप सैनी ने पदार्पण सीरीज में ही काफी प्रभावित किया था. विंडीज और दक्षिण अफ्रीका में हालांकि काफी अंतर है, लेकिन हार्दिक पंड्या के आने से मेजबान टीम और मजबूत हो गई है. विंडीज दौरे पर उन्हें आराम दिया गया था.

एक बार फिर भारत ने टी-20 में जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया है. ऐसे में सैनी, खलील अहमद के पास अपने आप को साबित करने का मौका है. विंडीज दौरे पर लेग स्पिनर राहुल चहर को सिर्फ एक मौका मिला था. इस सीरीज में वह चाहेंगे कि उन्हें ज्यादा मौके मिलें.

दक्षिण अफ्रीका नए कप्तान क्विंटन डि कॉक के नेतृत्व में उतर रही है और उसकी कोशिश एक नई शुरुआत की जहां वह अपनी पुरानी गलतियों को सुधार कर नई और बेहतर टीम बन सके. टीम में तीन नए चेहरे शामिल किए गए हैं. तेम्बा बावूमा, बजरेन फॉर्टयूइन और एनरिच नोर्टज को पहली बार टी-20 टीम में जगह मिली है.

सीनियर हरफनमौला खिलाड़ी क्रिस मॉरिस के साथ-साथ एडेन मार्कराम, थेयुनिस डे ब्रूयन और लुंगी नगिदी को टीम में नहीं चुना है. मेहमान टीम के पास हालांकि कैगिसो रबाडा जैसे गेंदबाज हैं, जो किसी भी बल्लेबाजी क्रम की कमर तोड़ने के लिए काफी है. टीम के पास ज्यादा अनुभव नहीं है, लेकिन वह भारत को कड़ी चुनौती देने का दम रखते हैं. पिछली बार दोनों टीमें टी-20 में 2018 में आमने-सामने हुईं थीं जहां भारत ने तीन मैचों की सीरीज 2-1 से अपने नाम की थी.

इस मैच में हालांकि बारिश का साया भी मंडरा रहा है. मौसम विभाग ने बुधवार को ही इस बात की जानकारी दे दी थी अगले कुछ दिनों तक यहां बारिश हो सकती है. धर्मशाला की विकेट तेज गेंदबाजों के मुफीद मानी जाती है और अगर बारिश होती है और ज्यादा देर तक कवर्स पिच पर रहते हैं तो तेज गेंदबाज और खतरनाक हो सकते हैं.

टीम:

भारत: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, क्रुणाल पंड्या, वॉशिंगटन सुंदर, राहुल चहर, खलील अहमद, दीपक चहर और नवदीप सैनी.

दक्षिण अफ्रीका: क्विंटन डि कॉक (कप्तान), रासी वान डर डुसैन, तेम्बा बावुमा, जूनियर डाला, बजरेन फॉट्यूइन, बेयुरान हेड्रिक्स, रीज हैड्रिक्स, डेविड मिलर, एनरिक नोर्टजे, एंदिल फेहुलक्वायो, ड्वेयान प्रीटोरियस, कैगिसो रबाडा, तबरेज शम्सी, जॉर्ज लिंडे.

Source:-Aajtak

संबंधित पोस्ट

कोहली भुला नहीं पा रहे वर्ल्ड कप की हार का गम, बताया ड्रेसिंग रूम का माहौल

Ansar Aziz Nadwi

कोहली जैसा कोई नहीं- ये रिकॉर्ड सिर्फ विराट के पास, कोई नहीं आस पास

Ansar Aziz Nadwi

पूरे वर्ल्ड कप में चार नंबर की गुत्थी नहीं सुलझा पाए कोहली

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें