नेशनल न्यूज़

आर्थिक हालात सुधारने के लिए केंद्र ने जारी किए उपाय, सीएसआर उल्लंघन अब आपराधिक मामला नहीं

नई दिल्ली: (सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देश के आर्थिक हालत को सुधारने के लिए कुछ नए उपायों की घोषणा की. इस दौरान सीतारमण ने कहा कि हमारी विकास दर दूसरे देशों से बेहतर है. इस समय अमेरिका, जर्मनी जैसे देशों के विकास दर में भी गिरावट देखने को मिल रही है.

PIB India

@PIB_India

LIVE: Press Conference by Union Minister @nsitharaman https://www.pscp.tv/w/cC_JqzFkclFlUE9xcGdFYkd8MUJkR1llamxXUVpHWDwPZCXnnQ3lUcj7NHeSUUEdmKwFIGXcsVyJbn40vwWO 

PIB India @PIB_India

LIVE: Press Conference by Union Minister @nsitharaman

pscp.tv

188 people are talking about this

सीतारमण ने कॉरपोरेट सोशल जवाबदेही (सीएसआर) उल्लंघन को आपराधिक श्रेणी से बाहर करने, लोन की अर्जियों पर ऑनलाइन नजर रखने, होम लोन एवं कार लोन की शर्तें आसान करने, कैपिटल गेन पर सरचार्ज वापस लेने, लोन सेटलमेंट की शर्तें आसान करने, लघु उद्योगों को 30 दिन में जीएसटी रिफंड करने जैसे कई प्रमुख घोषणाएं की.

इससे पहले सीएसआर उल्लंघन को आपराधिक श्रेणी में रखा गया था. हालांकि अब इस तरह के मामले को सिविल मैटर की तरह देखा जाएगा.

वित्त मंत्री ने यह भी कहा कि रेपो रेट से ब्याज की दरें जोड़ी जाएंगी. इसके अलावा डीमैट खातों में भी आधार की केवाईसी चलेगी. उन्होंने कहा कि अब बैंक होम लोन और कार लोन कम दर पर देंगे.

Rajeev kumar

@rajeevkumr

टैक्स दाताओं को compliance में और सरलीकरण. Income Tax orders, notices, summons, letters, etc through centralized system only; to have a computer generated unique ID Number; timelines fixed for disposal of notices @PMOIndia @FinMinIndia @PIB_India

View image on Twitter
69 people are talking about this

करदाताओं के उत्पीड़न को समाप्त करने के उद्देश्य से, वित्त मंत्री ने यह भी घोषणा की कि सभी कर नोटिस एक केंद्रीकृत प्रणाली से जारी किए जाएंगे. इसके अलावा निर्मला सीतारमण ने कहा कि एमएसएमई एक्ट में उद्योग की एक की परिभाषा होगी.

वित्त मंत्री ने इस दौरान सरकारी बैंकों को 70 हजार करोड़ रुपये देने का ऐलान किया. हाउसिंग फाइनेंस कंपनियों को भी 30 हजार करोड़ रुपये देने का ऐलान किया गया है. वित्त मंत्री ने कहा कि अब से 60 दिनों के अंदर जीएसटी का रीफंड मिलेगा और लघु उद्योंगों को 30 दिन में जीएसटी का रीफंड मिलेगा.

संबंधित पोस्ट

असमः बीफ पर दो साल पुरानी पोस्ट को लेकर छात्रा के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

Ansar Aziz Nadwi

सीबीआई अधिकारी ने अपने वरिष्ठ अधिकारी पर फ़र्ज़ी एनकाउंटर में शामिल होने का आरोप लगाया

Ansar Aziz Nadwi

यूपी: मिड-डे मील के लिए सवर्ण छात्रों की अलग थाली, दलित बच्चों के साथ नहीं खाने का आरोप

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें