नेशनल

बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च

 

(सीधीबात न्यूज़ सर्विस)  मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में देश की पहली वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज शुक्रवार को साल 2019-20 का आम बजट पेश किया. बजट में महिलाओं, किसानों और ग्रामीण भारत में विकास को लेकर कई बड़े ऐलान किए गए. हालांकि मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए बजट में कुछ खास देखने को नहीं मिला. महंगाई और रोजगार के मुद्दे को बजट से अलग ही रखा गया. अगर आपको मौजूदा बजट से कोई खास राहत नहीं मिली तो घबराएं नहीं. आपको बताते हैं बढ़ती मंहगाई में घरेलू खर्च को नियंत्रित करने के 5 फॉर्मूले…

  • बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च
    2 / 6

    फॉर्मूला नंबर 1ः हर महीने घरेलू खर्चों का लेखा-जोखा तैयार करना शुरू कर दीजिए. इससे न सिर्फ आपको फिजूलखर्च से मुक्ति मिलेगी, बल्कि आपकी घरेलू आर्थिक स्थिति भी मजबूत होगी.

  • बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च
    3 / 6

    फॉर्मूला नंबर 2ः अपने लाइफ पार्टनर के साथ आप जॉइंट बैंक अकाउंट खुलवा सकते हैं. जॉइंट अकाउंट में घर खर्च के लिए सैलरी का एक हिस्सा रखना चाहिए. साथ ही, दोनों अपने-अपने पर्सनल अकाउंट का नियमित रूप से इस्तेमाल करें.

  • बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च
    4 / 6

    फॉर्मूला नंबर 3ः मौजूदा वक्त में क्रेडिट और डेबिट कार्ड पर कई तरह के लाभ आते रहते हैं. सुनहरा मौका समझकर इनका पर्याप्त लाभ उठाएं.

  • बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च
    5 / 6

    फॉर्मूला नंबर 4ः ई-कॉमर्स वेबसाइट पर भी आए दिन ऐसे कई ऑफर्स आते हैं जिनका आप आसानी से लाभ उठा सकते हैं. इन ऑफर्स के जरिए ऑफ सीजन में भी आपको 50 से 60 प्रतिशत की भारी छूट मिल सकती है.

  • बजट से राहत नहीं? इन 5 फॉर्मूलों से कंट्रोल करें घरेलू खर्च
    6 / 6

    फॉर्मूला नंबर 5ः अधिकतर लोगों को शॉपिंग मॉल से खरीदारी करना ज्यादा रास आता है. मॉल में वे किसी भी चीज को मनमाने दाम पर खरीद लेते हैं. जबकि कई ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर वही चीज कम दाम में उपलब्ध होती है. इसलिए कुछ भी खरीदने से पहले वेबसाइट पर उसका प्राइज जरूर देख लें.

    Source:-Aajtak

 

संबंधित पोस्ट

सोनभद्र में जिस ज़मीन के लिए 10 लोगों को मार दिया गया, उसका कोई राजस्व रिकॉर्ड नहीं

Ansar Aziz Nadwi

यात्री वाहनों की बिक्री में लगातार 11वें महीने गिरावट, सितंबर में बिक्री क़रीब 24 प्रतिशत घटी

Ansar Aziz Nadwi

केंद्र सरकार द्वारा लाए जा रहे सरोगेसी विधेयक का विरोध क्यों हो रहा है?

Ansar Aziz Nadwi

अपना कमेंट्स दें

रिव्यु करें